देश में कोरोनावायरस से हाहाकार मचा हुआ है। आज इस वायरस से तीसरी मौत हो चुकी है जो मुंबई के कस्तूरबा अस्पताल में 64 वर्षीय एक बुजुर्ग महिला की मौत हुई है।

इसके साथ ही देश भर में कोरोनावायरस की वजह से मरने वालों का आंकड़ा तीन पहुंच गया है।
इस परिवार के 2 सदस्यों की जांच अभी भी जारी है। अस्पताल में भर्ती होने के समय दुबई से आने की बात छुपाई थी। वहीं नोएडा सेक्टर -100 में 2 नए मामले सामने आए और परिवार को इनसे अलग रखा गया हैं।

कोरोना वायरस का खौफ : राजस्थान में स्कूल-कॉलेज सभी बंद -live Hindustan News

इसी बीच नोएडा में जिम, स्कूल व कॉलेज सभी को पहले ही बंद कर दिया गया है। उत्तर प्रदेश में अगर कुल मिलाकर बात की जाए तो अभी तक 15 लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो चुकी है। उत्तर प्रदेश में 22 मार्च तक स्कूल, कॉलेज बंद रहने के आदेश जारी कर दिए हैं।
देश में 15 राज्यों में कोरोना फैल चुका है। भारत में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित कुल 131 मामले सामने आ चुके हैं। इसके साथ ही मरने वालों की संख्या 3 हो गई है। यूपी में सभी पर्यटक स्थल स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं।
महाराष्ट्र से अब तक सबसे अधिक 39 केस कोरोना के सामने आए हैं। महाराष्ट्र में विदेश से आने वाले लोगों को अलग से निगरानी में रखा जाएगा और इसकी पहचान के लिए लोगों के हाथ पर एक अलग प्रकार के मोहर लगाई जाएगी।

बात अब मध्यप्रदेश की करते हैं मध्यप्रदेश विधानसभा में राज्यपाल लाल जी टंडन के निर्देश के बावजूद कमलनाथ सरकार बहुमत परीक्षण के लिए तैयार ना होने से बीजेपी ने आगे की रणनीति पर कार्य स्टार्ट कर दिया है।
पार्टी ने एक तरफ सुप्रीम कोर्ट मैं गुहार लगाई तो दूसरी तरफ विधायकों को पूरी तरह से एकजुट रखने के लिए सतर्कता बरत रही है। पार्टियों में बैठक का दौर चल रहा है। मध्यप्रदेश में कांग्रेस के 22 विधायकों को इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार के अल्पमत को लेकर भाजपा के दावों के बाद राज्यपाल ने विश्वास मत हासिल करने को कहा है।
इसी बीच बीजेपी ने राजभवन में विधायकों की परेड कराने के साथ शीर्ष अदालत में दस्तक दे दी।
वहीं कमलनाथ ने सोमवार रात राज्यपाल लालजी टंडन से राजभवन में मुलाकात कर और उन्होंने विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने से इंकार कर दावा किया और विपक्षी को उनकी सरकार के खिलाफ सदन में अविश्वास प्रस्ताव लाने की चुनौती भी दी।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा- कि देश में आर्थिक सुनामी की स्थिति है। केंद्र की आर्थिक नीतियों पर बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा- कि यह सरकार हर मोर्चे पर फेल हुई है। राहुल ने कहा- मैं पहले से कह रहा था कि आर्थिक सुनामी आने वाली है। सरकार से कहा था क़ी आप तैयारी शुरू कीजिए लेकिन सरकार कुछ नहीं कर पाई।
राम मंदिर पर ऐतिहासिक निर्णय लेने वाले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई राज्य सभा के नए सांसद चुने। राष्ट्रपति ने उनको कल नामित किया था। राज्यसभा के लिए Namet होने वाले पहले पूर्व CJI है रंजन गोगोई। रंजन गोगोई पिछले साल 17 नवंबर को रिटायर हुए थे। राम मंदिर से रफ्फाल सबरीबाला जैसे अहम के केसों पर इन्होंने फैसला दिया

bharatgurjar

1 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *